Adhunik Europe Ka Itihas

Adhunik Europe Ka Itihas

Authors : V.D. Mahajan

  • ISBN
  • Pages
  • Binding
  • Language
  • Imprint
  • List Price
Buy e-book online :
 

Save 25%, Apply coupon code SCHAND25 during checkout

 

About the Author

V.D. Mahajan :-
He is a renowned historian. He is noted for his contributions to the study of history. He has written several books on history which include Ancient India, Political theory, Adhunik Bharat ka Itihas, Madhyakalin Baharat, Prachin Bharat ka Itihas, and History of Modern Europe.
 

About the Book

यह पुस्तक भारत के विद्यार्थियों को यूरोप के इतिहास का पर्याप्त ज्ञान देने के लिए लिखी गयी है। पुस्तक को सब प्रकार से उपयोगी बनाने के लिए भरसक यत्न किया गया है। आधुनिक यूरोप का इतिहास समस्त संसार के लिए शिक्षाप्रद है। जिन देशों ने आजकल उन्नति की है उन्होने यूरोप से प्रेरणा और प्रोत्साहन लिया है। इस पुस्तक के स्वाध्याय से पता लगेगा कि किस प्रकार इटली और जर्मनी का उन्नीसवीं शताब्दी में एकीकरण हुआ। किस प्रकार 1917 में रूस में क्रांति हुई और उसका प्रभाव सारे संसार पर पड़ा । फ्रांस की क्रांति से संसार में ऐसी विचार-धाराएं उत्पन्न हुई जिनका प्रभाव आज भी देखने में आता है। इस संस्करण में एक नया अध्याय डाला गया है जो पुस्तक की उपयोगिता को बढ़ाएगा और पाठकगण को उसका लाभ प्रदान करेगा।
 

Contents

(पहला भाग): 1. फ्रांस-क्रान्ति से पूर्व का यूरोप, 2. फ्रांस-क्रान्ति के कारण, 3. राष्ट्रीय सभा का कार्य (1789-91), 4. विधान-सभा और राष्ट्रीय सम्मेलन, 5. गिराण्डिस्ट और जैकोबिन्ज़, 6. क्रान्ति के महान व्यक्ति, 7. संचालक-पंचायत (1795-99), 8. राष्ट्रों के संगठन, 9. नेपोलियन बोनापार्ट (1769-1821), 10. वियाना-व्यवस्था (1815), 11. कैसलरे और कैनिंग, 12. युरोप का संघ (1815-22), 13. लुई अठारहवें से नीपोलिय तृतीय तक, 14. बेल्जियम की स्वतन्त्रता, 15. 1815 से 1918 तक आस्ट्रिया-हंगरी, 16. इटली का एकीकरण, 17. जर्मनी का एकीकरण, 18. रूस 1796 से 1870 तक, 19. पूर्व का प्रश्न, (दूसरा भाग): 20. बिस्मार्क (1815-98), 21. जर्मनी 1890 से 1914 तक, 22. फ्रांस 1870 से 1914 तक, 23. 1870 के पश्चात् इटली, 24. रूस 1871 से 1917 तक, 25. पूर्व का प्रश्न 1871 से आगे, 26. अफ्रीका के लिए संधर्ष, 27. जापन की विदेश-नीति, 28. अमेरिका की विदेश-नीति, 29. ब्रिटेन की विदेश-नीति, 30. अन्तर्राष्ट्रीय सम्बन्ध (1871-1914), 31/32. प्रथम विश्व युद्ध (1914-18), 33. राष्ट्र संघ, 34. जर्मनीः हिटलर के उदय तक, 35. फ्रांसः दो विश्व युद्ध के बीच (1919-1939), 36. ब्रिटेनः दो विश्व युद्धों के बीच (1919-1939), 37. इटली और मुसीलिनी, 38. हिटलर की जर्मनी, 39. रूपः 1917-1945 तक, 40. द्वितीय विश्व युद्ध (1939-45), 41. 1945 के पश्चात् यूरोप, 42. यूरोप और विश्व, 43. औद्योगिक क्रान्ति, 44. 1815 में यूरोप