Prachin Bharat Ka Itihas (Ancient India), Hindi Edition

Prachin Bharat Ka Itihas (Ancient India), Hindi Edition

Authors : V.D. Mahajan

  • ISBN
  • Pages
  • Binding
  • Language
  • Imprint
  • List Price
Buy e-book online :
 
 

About the Author

V.D. Mahajan :-
He is a renowned historian. He is noted for his contributions to the study of history. He has written several books on history which include Ancient India, Political theory, Adhunik Bharat ka Itihas, Madhyakalin Baharat, Prachin Bharat ka Itihas, and History of Modern Europe.
 

About the Book

इस पुस्तक में सभ्यताओं की उत्पत्ति से लेकर आरम्भिक मध्य युग तक प्राचीन भारत के इतिहास का वर्णन है। इसमें सभ्यताओं के स्रोत एवं कालक्रम का विवरण दिया गया है साथ ही विभिन्न युगों के कार्य, उनकी उपलब्धियों, सफलताओं एवं असफलताओं पर भी प्रकाश डाला गया है। इस पुस्तक में भारत की विशिष्ट सांस्कृतिक, धार्मिक एवं सामाजिक विविधताओं को दर्शाया गया है। प्राचीन भारत के इतिहास के विद्यार्थियों के अलावा यह पुस्तक विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में सम्मिलित हो रहे अभ्यर्थियों के लिए भी उपयोगी है।

 

Key Features

• प्राचीन काल से आरम्भिक मध्य युग तक ऐतिहासिक परिवर्तनों का संतुलित विवरण
• साक्ष्य स्रोतों, सिद्धान्तों एवं विवादों की विस्तृत जानकारी
• सांस्कृतिक, राजनैतिक, सामाजिक एवं आर्थिक विकास का विवरण
 

Table of Content

1. परिचय, 2. प्राचीन भारत के इतिहास के स्रोत, 3. प्रागैतिहासिक मानव, 4. भारत की प्रागैतिहासिक जातियाँ और संस्कृतियाँ, 5. सिन्ध्ुा सभ्यता, 6. आर्य-जाति, 7. वैदिक साहित्य, 8. ़ऋग्वैदिक भारत, 9. उत्तरकालीन वैदिक सभ्यता, 10. सूत्रों का युग, 11. महाकाव्यों का युग, 12. धर्मशास्त्रों का युग, 13. जाति-प्रथा, 14. जैन धर्म, 15. बौद्ध-धर्म, 16. प्राचीन भारतीय राज्य, 17. छठी और चैथी शती ईसा पूर्व के मध्य उत्तरी भारत की अवस्था, 18. मगध का उदय, 19. भारतवर्ष और ईरान, 20. भारतवर्ष पर सिकन्दर का आक्रमण, 21. चन्द्रगुप्त और बिन्दुसार, 22. अशोक और उसके उत्तराधिकारी, 23. मौर्यकालीन प्रशासन, 24. मौर्यकालीन सामाजिक, धार्मिक, आर्थिक और सांस्कृतिक स्थिति, 25. शंुग और कण्व वंश, 26. सातवाहन या आन्ध््रा वंश, 27. भारत में बैक्ट्रियन यूनानी राज्य, 28. भारत में शकों तथा पहलवों का राज्य, 29. कुषाण साम्राज्य का उदय और पतन, 30. मौर्योत्तर काल में भारत की सामाजिक, सांस्कृतिक और धार्मिक अवस्था, 31. भारत का पश्चिमी देशों से सम्बन्ध, 32. नाग वंश, 33. गुप्त साम्राज्य, 34. गुप्तकालीन भारत, 35. अजन्ता, ऐलोरा, अमरावती और नागार्जुनकुण्ड, 36. वाकाटक वंश, 37. मैत्राक और मौखरी वंश, 38. हर्षवर्धन और उसका युग, 39. हर्षवर्धन के पश्चात् उत्तरी भारत की अवस्था, 40. उत्तर भारत की सभ्यता और संस्कृति (650-1200 ई॰), 41. राष्ट्रकूट वंश, 42. चालुक्य वंश, 43. पल्लव वंश, 44. चोल वंश, 45. प्रभुत्व के लिए त्रिपक्षीय संघर्ष, 46. पंड्या वंश, 47. बृहत्तर भारत, 48. बौद्ध कला, 49. संगम काल और उसका सािहत्य, 50. दक्षिण भारत का भारतीय संस्कृति में योगदान, 51. प्राचीन भारत के गणराज्य, 52. क्या गुप्तकाल भारत के इतिहास का स्वर्ण युग था ?